प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा का रिजल्‍ट सितंबर के आखिरी तक में आ सकता है Result


प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा वर्ग 3 का रिजल्ट चार माह बाद भी घोषित नहीं हुआ है। अभ्‍यर्थियों के सवाल पर भी प्रोफेशनल एक्जामिनेशन बोर्ड मौन धारण किये हुए है। इससे अभ्‍यर्थियों का धैर्य टूटने लगा है। वे बोर्ड कार्यालय का घेराव करने का मन बना रहे हैं। बीते 12 साल से प्राथमिक शिक्षक बनने का सपना अभ्‍यर्थी देख रहे हैं। अब परीक्षा देने के बाद चार महीने से वे रिजल्ट का इंतजार कर रहे हैं। हालांकि प्रोफेशनल एक्जामिनेशन बोर्ड मौन बना हुआ है। अभ्यर्थी रिजल्ट के लिए बोर्ड कार्यालय का लगातार चक्कर लगा रहे हैं। हालांकि कोई रिजल्‍ट जारी होने के बारे में स्पष्ट जानकारी नहीं दे जानकारी के मुताबिक दिसंबर, 2019 में प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा का नोटिफिकेशन जारी हुआ था। करीब दो साल बाद मार्च, 2022 में परीक्षा आयोजित कराई गई। आज तक इसका रिजल्ट जारी नहीं हुआ है।अभ्‍यर्थियों का कहना है कि वे प्रतिदिन बोर्ड के इंक्वायरी नंबर पर कॉल करते हैं। कोई कॉल अटेंड नहीं करता है। ट्विटर के माध्यम से भी कई बार वे रिजल्ट जारी करने की मांग उठा चुके हैं। इसके बाद भी शासन प्रशासन इसकी अनदेखी कर रहा है।

अभ्यर्थियों का कहना है कि अब उनका धैर्य टूटने लगा है। बीते 12 साल से प्राथमिक शिक्षक भर्ती नहीं हुई है। अगर इस माह तक रिजल्ट जारी नहीं हुआ तो अभ्यर्थियों द्वारा बोर्ड कार्यालय का घेराव किया जायेगा। शिक्षा मंत्री को उक्त विषय में तत्काल शिक्षक भर्ती पूर्ण करने के लिए ज्ञापन सौंपा जायेगा।

मध्य प्रदेश प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा रिजल्ट के लिए क्या क्या आवश्यकता है होंगी

  • आपको अपना प्रवेश पत्र संभाल कर रखना होगा
  • अपना अप्लीकेशन फॉर्म संभाल कर रखना होगा
  • रिजल्ट निकालने के लिए आपको आवेदन नंबर और रोल नंबर किस साथ साथ  सेंटर कोड हो सकता आवश्यकता होगी।
  • अपना आवेदन नंबर रोल नंबर और सेंटर कोड डेट ऑफ बर्थ फील करेंगे तत्पश्चात आपका रिजल्ट शो हो जाएगा

कुछ महत्वपूर्ण टॉपिक जो आपके काम की है

  1. रिजल्ट निकालने के लिए यहां क्लिक करें
  2. सीटेट का फॉर्म भरने के लिए यहां क्लिक करें
  3. अतिथि शिक्षक का फॉर्म डाउनलोड यहां से करें
  4. REET का एडमिट कार्ड यहां से निकाले
  5. सी टेट नोट्स के लिए यहां पर क्लिक करें
  6. अतिथि शिक्षक वैकेंसी जाने कहां-कहां खाली हैं
इसे पढे :-  mp tet latest news जांच के बाद हुआ एमपी टेट का खुलासा अब हो सकता है एमपी टेट परीक्षा कैंसिल

प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा का कोर्ट का निर्णय आने का इंतजार


मध्य प्रदेश प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा लिखकर मामले में प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड ने अपनी गलती स्वीकार कर लीजिए उन्होंने साफ तौर पर कहा कि हम स्वीकार करते हैं कि परीक्षाएं ली हुई है इस अंतर्गत कोर्ट का निर्णय आने में सितंबर माह तक लग सकता है तो फिलहाल आप लोग धैर्य बनाए रखें कोर्ट का निर्णय सितंबर तक आ सकता है यह 181 टोल फ्री के माध्यम से पता चला है तो आप लोग धैर्य बनाए रखें और कोर्ट के निर्णय का आदेश का पालन करने के लिए इंतजार करें संभवत कोर्ट का निर्णय सितंबर के अंत तक आएगा और सब की इच्छा को ध्यान रखते हुए निर्णय लिया जाएगा मध्य प्रदेश प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा का रिजल्ट का इंतजार करीबन 1200000 बच्चे कर रहे हैं और कई सालों से भर्ती ना होने की वजह से विद्यालयों में पढ़ाई भी नहीं हो पा रही है इस वजह से कोर्ट का निर्णय जल्द आएग।
भोपाल: MP TET पेपर लीक मामले में सीएम के OSD पर स्क्रीनशॉट वायरल करने का आरोप लगाने वाले डॉ आनंद राय को बीजेपी सांसद ने अर्बन नक्सलाइट बताया है. बीजेपी राज्यसभा सांसद सुमेर सिंह सोलंकी ने कहा कि डॉ आनंद राय अर्बन नक्सलाइड, ब्लैकमेलर, आपराधिक मानसिकता और वामपंथी हैं. मुख्यमंत्री के ओएसडी और आदिवासी गौंड युवा अधिकारी लक्ष्मण मरकाम ने एट्रोसिटी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज कराई है. 

खातों की जांच में आएगी अनियमितताएं!

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
सुमेर सिंह सोलंकी ने कहा कि आनंद राय के बैंक अकाउंट की जांच होगी तो आर्थिक अनियमितताएं पाई जाएंगी. आनंद राय ने देश के साथ-साथ समाज को तोड़ने का और समाज को आपस में लड़ाने का काम किया है. यह गिरफ्तारी उनके लगातार झूठे कारनामे करने की वजह से हुई है. उन्होंने अपने कारनामों से पर्दा हटाने के लिए जबलपुर हाईकोर्ट जाकर महंगे वकीलों को लाखों रूपए की फीस देकर बचने का असफल प्रयास किया.

ये भी पढ़ें: नागिन का बदला! सुबह पिता ने नाग को मारा, कुछ घंटों बाद ही बेटे को सांप ने डसा, मौत

राज्यसभा सांसद डॉ. सुमेर ने कहा कि डॉ आनंद राय ने शासकीय सेवा में रहते हुए लगातार सरकार और समाज के विरूद्ध काम किया है. यह अर्बन नक्सलवादी और भगोड़ा व्यक्ति है, जो मध्यप्रदेश से विभिन्न सामाजिक संगठनों द्वारा भगाया गया था और अब दिल्ली में गिरफ्तारी हुई है. यह देश और समाज को तोड़ने वाला और सिविल आचरण संहिता का पालन न करने के कारण नौकरी से निलंबित व्यक्ति भी है.

कब दर्ज हुआ था मामला

पुलिस ने 27 मार्च को सीएम के ओएसडी लक्ष्मण सिंह मरकाम की शिकायत पर आनंद राय के साथ केके मिश्रा के खिलाफ एससी/एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया था. मामले में केके मिश्रा को 1 अप्रैल को थाने से नोटिस तामील करा रिहा कर दिया गया. जबकि, आनंद राय को उसी केस में दिल्ली से गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया. कोर्ट ने उन्हें 1 दिन की रिमांड पर क्राइम ब्रांच को सौंप दिया.

ये भी पढ़ें: ऐसा मंदिर जहां ‘मां’ को लगता है मदिरा का भोग, कलेक्टर खुद चढ़ाते हैं शराब, भक्तों में बांटा जाता है प्रसाद

लक्ष्मणसिंह मरकाम ने की थी शिकायत

सीएम के OSD लक्ष्मणसिंह मरकाम ने पुलिस को शिकायत दर्ज करते हुए आरोप लगाते हुए कहा था कि आनंद राय ने सार्वजनिक रूप से मेरी छवि धूमिल करने के उद्देश्य से गलत और भ्रामक पोस्ट सोशल मीडिया पर जारी की थी. 26 मार्च को उन्होंने एकबार फिर फेसबुक पर एक स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए मेरा नाम कथित पेपर लीक मामले से जोड़ा था. 


आनंद राय ने क्या लिखा था

आनंद राय ने लिखा, ‘ MP TET वर्ग 3 का पेपर, लक्ष्मण मरकाम के मोबाइल तक कैसे पहुंचा. इसकी जांच होनी चाहिए. व्यापमं के कई अभ्यर्थियों के वॉट्सएप ग्रुप पर यह फोटो उपलब्ध कराई गई. इस घोटाले की CBI जांच होनी चाहिए. कुछ दिनों पहले राजस्थान में इसी तरह REET घोटाला हुआ था.

भोपाल: मध्यप्रदेश में शिक्षक पात्रता परीक्षा ( MP TET) पास कर चुके उम्मीवारों को शिवराज सरकार ने बड़ी खुशखबरी दी है. सरकार ने MP TET (Teacher Eligibility Test) के परीक्षा परिणाम की वैलिडिटी अवधि 2 साल से बढ़ाकर 3 साल कर दी है. राज्य शासन ने स्कूल शिक्षा सेवा (शैक्षिक सेवा) शर्ते भर्ती नियम 2018 में संसोधन कर ये आदेश -जारी किए हैं. 

इसे पढे :-  परीक्षा में हुई गड़बड़ी की रिपोर्ट पीईबी को सौंपी मैप आईटी का खुलासा बाहर से सॉल्व हुआ था पीईबी की का पेपर

भर्ती नियम 2018 में संशोधन
सरकार ने स्कूल शिक्षा सेवा (शैक्षिक सेवा) शर्ते भर्ती नियम 2018 में संशोधन किया है. सेवा शर्तें भर्ती नियम 2018 में संशोधन के बाद उच्च माध्यमिक, माध्यमिक और प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा की वैधता 2 साल से बढ़कर 3 साल हो गई है.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
नए रिजल्ट में भी मिलेगा फायदा

भर्ती नियम 2018 में संशोधन का लाभ आगे होने वाली परीक्षाओं में भी मिलेगा. अगर राज्य सरकार आगे भी पात्रता परीक्षा आयोजित कराती है, तो उसकी वैलेडिटी भी रिजल्ट घोषित होने की तारीख से तीन साल तक रहेगी. यानी अभी चल रही प्राथमिक शिक्षत भर्ती परीक्षा में पास होने वाले अभ्यर्थी भी अगले तीन साल तक नियुक्ती के लिए पात्र होंगे.

2019 के रिजल्ट की ये होगी नई वैलीडिटी
– 
उच्च माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा-2018 (हायर सेकंडरी टीचर्स एलिजिबिलटी टेस्ट) के परिणाम 28 अगस्त 2019 को घोषित हुए. इसकी वैधता 28 अगस्त 2021 को खत्म हो गई थी, लेकिन अब इसकी नई वैधता 28 अगस्त 2022 हो गई है.

– माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा का रिजल्ट 26 अक्टूबर 2019 को आया था. अब इसकी वैधता 26 अक्टूबर 2022 तक रहेगी. वहीं, अगर राज्य सरकार आगे भी पात्रता परीक्षा आयोजित कराती है, तो उसकी वैलेडिटी भी रिजल्ट घोषित होने की तारीख से तीन साल तक रहेगी.

परेशान थे उम्मीदवार
इस फैसले से पात्रता परीक्षा पास कर चुके उम्मीदवारों की नियुक्ति की संभावनाएं बढ़ गई हैं. उन्हें एक साल का अतिरिक्त वक्त भी मिल गया है. वेटिंग में चल रहे उम्मीदवारों के लिए ये एक नई उम्मीद है. दरअसल, मध्यप्रदेश के सरकारी स्कूलों में भर्ती के उम्मीदवार, पात्रता परीक्षा की वैधता खत्म होने के कारण परेशान थे |

इसे पढे :-  वर्ग 3 की एमपी टेट परीक्षा निरस्त कराई जाए: तोमर

8 मार्च को हुआ था आंदोलन
वेटिंग में चल रहे चयनित शिक्षकों ने पात्रता अवधि बढ़ाने के लिए स्कूल शिक्षा मंत्री से लेकर तमाम अधिकारियों के पास गुहार लगाई थी. इसके साथ ही 8 मार्च अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के दिन वेटिंग में चल रही चयनित महिला शिक्षकों ने वैलिडिटी अवधि 3 साल बढ़ाने को लेकर आंदोलन किया था.


Leave a Reply

error: Content is protected !!